Tapak sakti online dating partnersuche fs24 Pforzheim

और उनके मुम्मे के पास किश करने लगा और उनके पूरे मुम्मे चाटने लगा.फिर मैंने उनका निप्पल अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगा. आधे घंटे उनके बूब्स चूसने के बाद मैंने उनकी नाभि पर आया और नाभि के अंडर और किनारे जीभ से चाटने लगा..

और पेट पर जीभ से चाटने लगा और कमर पर जीभ से चाट और चूम चूम कर भाभी का चेहरा लाल कर दिया.

फिर मैंने भाभी की पैंटी उतार दी ..और उनकी गुलाबी चुत को आज़ाद कर दिया फिर मैंने उनकी चुत में ऊँगली घुसा दी और हलके से चुत फैलाया और ऊँगली अंडर तक घुसा दी.

दोनों ने ही घुटनो से ऊपर तक शार्ट ड्रेस पहन रखा था और तब मेरी बुद्धि खराब होने लगी ..उन दोनों के बीच में उनके हस्बैंड्स बैठे थे ..और दोनों पीने में बहुत बिजी थे और उनकी बीविया इधर उधर लोगो को देख रही थी ..

करीब आधे घंटे में उन दोनों आदमियों ने बहुत पी ली और दोनों बहुत नशे में हो गए..

तभी दूसरा आदमी अपनी बीवी को लेकर जाने लगा वो बहुत नशे में था तो उसकी बीवी उसको संभाल कर ले जाने लगी..

अब मेरे बगल में वो भाभी और उनका पति फुल नशे में था… मैं उनकी गोरी गोरी टांगो को देख रहा था तभी वो मेरी तरफ मुड़ी और बोला क्या आप मेरी हेल्प करोगे तो मैंने कहा ” हां मैडम कहिये ” तब भाभी बोली ” आप मेरे हस्बैंड को मेरी गाडी तक छोड़ने में मेरी हेल्प करोगे..

तो इसी तरह एक दिन मैं शनिवार के दिन दिल्ली में सीपी के एक क्लब माय बार में बैठा हुआ था और बियर का मज़ा ले रहा था..

बार में हल्का हल्का म्यूजिक बज रहा था जिससे सुरूर सा बन गया था..

तो मैंने कहा ” भाभी ऐसे क्या देख रही हो ” तो भाभी बोली की ” आप डांस के अलावा क्या क्या अच्छा कर लेते हो” तो मैंने कहा भाभी जो आप बोलो तो भाभी बोली ” घर चलो फिर बताती हूँ.

Tags: , ,